HO SAMAJ: सामाजिक एकजुटता से ही समाज का उत्थान संभव

मुसाबनी स्थित लोहिया भवन सुरदा क्रोसिंग में आदिवासी हो समाज महासभा पूर्वी सिंहभूम जिला समिति का चुनाव संपन्न हुआ.

HO SAMAJ: सामाजिक एकजुटता से ही समाज का उत्थान संभव

जमशेदपुर: मुसाबनी स्थित लोहिया भवन सुरदा क्रोसिंग में आदिवासी हो समाज महासभा पूर्वी सिंहभूम जिला समिति का चुनाव संपन्न हुआ. यह चुनाव केंद्रीय समिति द्वारा  प्रतिनियुक्त चुनाव प्रभारी सह संयुक्त सचिव रवि बिरुली एवं केन्द्रीय संगठन सचिव रामेश्वर तैशुम की देखरेख में चुनाव शांतिपूर्वक संपन्न हुआ। आदिवासी हो समाज महासभा,जिला समिति पूर्वी सिंहभूम के चुनाव में निर्विरोध चुने गये समिति के पदाधिकारी.

चुने गये पदाधिकारी

जिला अध्यक्ष- रोशन पुरती

उपाध्यक्ष- शान्ति सिदू

सचिव- दुर्गाचरण बारी

कोषाध्यक्ष- हरिश चंद्र तमसोय

समाज के लोगों को एक मंच पर लायें

केंद्रीय संगठन सचिव रामेस्वर तैशुम ने आदिवासी हो समाज  महासभा के नियमावली, उद्देश्य एवं कार्यों के बारे में विस्तार से नव निर्वाचित पदाधिकारियों को बताया. उन्होंने कहा कि समाज के समस्त लोगों को एक मंच पर लाने का निरंतर प्रयास होना चाहिए. ताकि सामाजिक एकजुटता कायम हो. एकजुटता बढेगी तो समाज सशक्त होगा. वर्तमान समय में सामाजिक एकता का मजबूत होना नितांत ही जरूरी है. इससे सामाजिक, सांस्कृतिक, आर्थिक व राजनैतिक रूप से भी मजबूती मिलेगी.

सामाजिक दायित्वों का निर्वाह करें: रवि बिरूली  

चुनाव प्रभारी सह केंद्रीय संयुक्त सचिव रवि बिरुली ने कहा कि आर्थिक, आध्यात्मिक, नैतिक एवं शैक्षणिक विकास के लिए संपन्न एवं जिम्मेदार लोगों को समाज में सहयोग के लिए आगे आना पड़ेगा. शैक्षणिक कमजोरी की वजह से समाज में अज्ञानता है. इससे इनकार नहीं किया जा सकता है. लेकिन समाज के हर व्यक्ति को अपनी जवाबदेही तय करना होगा. समाज को मुख्यधारा से जोडना किसी एक व्यक्ति का काम नहीं है. बल्कि हर शिक्षित, बुद्धिजीवी व समाज के प्रबुद्ध नागरिकों का काम है.

इन्होंने दिया महती योगदान

चुनाव को सफलतापूर्वक आयोजन करने में मुख्य रूप से जिलाध्यक्ष रोशन पुरती, शांति सिदु, दुर्गाचरण बारी, हरीश तमसोय, विशाल पुरती, हरीश देवगम, शिवशंकर होनहागा, मंजू लुगुन, माधवी बानसिंह, बेबी सिदु, बलास्टर केराई, सागेन तियू, प्रिया पुरती, विजय कइका, शिवचरण समद, सोहन सिंह बानरा, सत्या ऋषि समद, सुखलाल समद, कृष्णा सोय, बिरसा सोय, संध्या रानी हेंब्रम, ज्योति हेंब्रम आदि थे।