वर्ल्ड कप से छह महीने पहले लियोनल मेसी की टीम ने यूरोप में दिखाया दम

इंग्लैंड की राजधानी लंदन के वेम्बली स्टेडियम में यूरोप की चैंपियन इटली और दक्षिण अमेरिका की चैंपियन अर्जेंटीना की टीमें आमने-सामने हुईं। इटली ने पिछले साल यूरो कप और अर्जेंटीना ने कोपा अमेरिका जीता था।

वर्ल्ड कप से छह महीने पहले लियोनल मेसी की टीम ने यूरोप में दिखाया दम

इंग्लैंड की राजधानी लंदन के वेम्बली स्टेडियम में यूरोप की चैंपियन इटली और दक्षिण अमेरिका की चैंपियन अर्जेंटीना की टीमें आमने-सामने हुईं। इटली ने पिछले साल यूरो कप और अर्जेंटीना ने कोपा अमेरिका जीता था। उसके बाद यह घोषणा की गई थी कि दोनों टीमों के बीच एक मुकाबला खेला जाएगा, जिसे 'ला फिनालिसिमा' कहा गया। इस मुकाबले में बुधवार को अर्जेंटीना ने इटली को 3-0 से रौंद दिया।
करियर का दूसरा अंतरराष्ट्रीय खिताब जीता
अर्जेंटीना के कप्तान लियोनल मेसी ने अपने करियर का दूसरा अंतरराष्ट्रीय खिताब जीता। उनका पहला खिताब कोपा अमेरिका था। इस मामले में मेसी ने पुर्तगाल के कप्तान क्रिस्टियानो रोनाल्डो की बराबरी कर ली। रोनाल्डो अपने देश के लिए यूरो कप और नेशंस लीग जीत चुके हैं। मेसी ने अपने करियर का यह 40वां खिताब जीता है। सबसे ज्यादा खिताब जीतने के मामले में वो दूसरे स्थान पर हैं। उनसे आगे ब्राजील के डिफेंडर दानी एल्वेस हैं। एल्वेस बार्सिलोना क्लब में मेसी के साथ खेल चुके हैं। उन्होंने 43 खिताब अपने नाम किए हैं।
मेसी ने दो गोल असिस्ट किए
फ्रांस में पेरिस सेंट जर्मेन के साथ अपने पहले सीजन में कुछ खास नहीं करने वाले मेसी राष्ट्रीय टीम के साथ जुड़ते हुए फॉर्म में लौट आए। 28वें मिनट में उनके शानदार पास पर मार्टिनेज ने गोल कर टीम को 1-0 से आगे कर दिया। हाफटाइम से ठीक पहले इंजरी टाइम (45+1वें मिनट) में डी मारिया ने मार्टिनेज के पास पर गोलकीपर जियालुइजी डोनारूमा को छकाते हुए बेहतरीन गोल किया। इसके बाद मैच समाप्त होने से कुछ सेकंड पहले डाइबाला ने मेसी के पास पर गोल कर दिया।

वर्ल्ड कप पर अर्जेंटीना की नजर
इस साल नवंबर-दिसंबर में कतर में फीफा वर्ल्ड कप होना है। अर्जेंटीना ने कोपा अमेरिका के बाद फिनालिसिमा जीतकर अन्य टीमों को चेतावनी दे दी है। फुटबॉल विशेषज्ञ मेसी की टीम को वर्ल्ड कप का दावेदार नहीं मान रहे थे, लेकिन लंदन में अर्जेंटीना के प्रदर्शन को देखने के बाद उनके सुर बदल गए हैं। अब वो इस टीम को प्रबल दावेदार बताने लगे हैं।

32 मैचों से नहीं हारी अर्जेंटीना की टीम
मेसी ने मैच के बाद कहा, ''आज हमारा टेस्ट अच्छा रहा क्योंकि इटली एक बेहतरीन टीम है। हम जानते थे कि यह एक अच्छा मैच होने वाला है और हमने चैंपियन बनने के लिए बेहतरीन प्रदर्शन किया। यह एक बेहतरीन फाइनल था। स्टेडियम अर्जेंटीना के समर्थकों से भरा हुआ था। हमारे लिए यह अनुभव शानदार रहा।'' मेसी की टीम पिछले 32 मैचों में नहीं हारी है और प्रशंसकों को इस क्रम के वर्ल्ड कप तक बढ़ने की उम्मीद है। अगर मेसी कतर में भी अपने रंग में दिखाई दिए तो अर्जेंटीना की टीम 1986 के बाद चैंपियन बन सकती है।