लेखक सलमान रुश्दी पर न्यूयॉर्क में हमला,गंवा सकते हैं एक आंख, लीवर भी क्षतिग्रस्त

अमेरिका के न्यूयॉर्क शहर में शुक्रवार को एक कार्यक्रम के दौरान अंग्रेजी भाषा के मशहूर लेखक सलमान रुश्दी पर चाकू से हमला किया गया। इस दौरान रुश्दी की गर्दन से काफी खून निकला। रुश्दी पर उस समय हमला किया गया

लेखक सलमान रुश्दी पर न्यूयॉर्क में हमला,गंवा सकते हैं एक आंख, लीवर भी क्षतिग्रस्त

अमेरिका के न्यूयॉर्क शहर में शुक्रवार को एक कार्यक्रम के दौरान अंग्रेजी भाषा के मशहूर लेखक सलमान रुश्दी पर चाकू से हमला किया गया। इस दौरान रुश्दी की गर्दन से काफी खून निकला। रुश्दी पर उस समय हमला किया गया, जब वह पश्चिमी न्यूयॉर्क में आयोजित एक कार्यक्रम में व्याख्यान देने वाले थे। फिलहाल, अस्पताल में रुश्दी की सर्जरी की जा चुकी है और उनको वेंटिलेटर पर रखा गया है। वहीं हमलावर की पहचान न्यू जर्सी के 24 वर्षीय हादी मतार के तौर पर हुई है।

तसलीमा नसरीन ने जताई चिंता

सलमान रुश्दी पर हमले के बाद बांग्लादेश की मशहूर लेखिका तसलीमा नसरीन ने चिंता व्यक्त की है। एक ट्वीट में उन्होंने कहा, मुझे पता चला है कि सलमान रुश्दी पर न्यूयॉर्क में हमला हुआ है। यह वाकई चौंकाने वाला है। मैंने कभी नहीं सोचा था कि ऐसा होगा। वे पश्चिम में रह रहे थे और उन्हें 1989 से सुरक्षा दी जा रही है। अगर, उन पर हमला हो सकता है तो जो भी इस्लाम की आलोचना करेगा, उस पर भी हमला हो सकता है। यह चिंता की बात है।

रुश्दी की गर्दन पर चाकू से वार किया

ऑनलाइन पोस्ट किए गए एक वीडियो में घटना के तुरंत बाद उपस्थित लोगों को मंच की ओर भागते देखा जा सकता है. कहा जा रहा है कि वहां मौजूद लोगों ने हमलावर को पकड़ लिया. इसके बाद न्यूयॉर्क पुलिस ने एक बयान जारी कर कहा कि वह लेखक सलमान रुश्दी पर हुए हमले की जांच कर रही है. न्यूयॉर्क पुलिस ने कहा कि एक संदिग्ध ने मंच पर चढ़कर रुश्दी और उनका साक्षात्कार ले रहे व्यक्ति पर हमला कर दिया. रुश्दी की गर्दन पर चाकू से वार किया गया है.

संदिग्ध हमलावर को तुरंत हिरासत में ले लिया गया

न्यूयॉर्क पुलिस ने कहा कि संदिग्ध हमलावर को तुरंत हिरासत में ले लिया गया है. रुश्दी की गर्दन में चोट आई है. एक हेलीकॉप्टर के जरिए रुश्दी को एक स्थानीय अस्पताल में ले जाया गया है. उनकी हालत के बारे में अभी कोई जानकारी नहीं है. वहीं, उनका साक्षात्कार लेने वाले के सिर में मामूली चोट लगी है. चौटाउक्वा काउंटी शेरिफ कार्यालय की टीम घटनास्थल पर मौजूद है.

मंच पर जाकर रुश्दी का प्राथमिक उपचार किया

अमेरिका के अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक रुश्दी जिस कार्यक्रम में संबोधित करने वाले थे वहां मौजूद एंडोक्रिनोलॉजिस्ट रीटा लैंडमैन ने मंच पर जाकर रुश्दी का प्राथमिक उपचार किया. रीटा ने कहा कि रुश्दी के शरीर पर चाकू के हमले के कई निशान थे, जिनमें से एक उनकी गर्दन के दाहिनी ओर था और वह खून से लथपथ पड़े हुए थे. उन्होंने कहा कि वह जीवित प्रतीत हो रहे थे और सीपीआर नहीं ले रहे थे. रीटा ने कहा कि वहां मौजूद लोग कह रहे थे कि उनकी धड़कन चल रही है.

अधिकारी स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं

न्यूयॉर्क प्रांत की गवर्नर कैथी होचुल ने कहा कि रुश्दी जीवित हैं और उन्हें हेलीकॉप्टर के जरिए सुरक्षित स्थान पर पहुंचा दिया गया है. इसके साथ उन्होंने यह भी कहा कि अधिकारी स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं. कैथी होचुल ने कहा कि सलमान रुश्दी कई दशकों तक सत्ताधारियों के सामने सच बोलते रहे. न्यूयॉर्क प्रांत की गवर्नर ने बंदूक हिंसा को रोकने के उद्देश्य से आयोजित एक कार्यक्रम में कहा कि प्रतिष्ठित शख्सियत सलमान रुश्दी पर एक कार्यक्रम के दौरान हुए हमले की सूचना मिलने पर बेहद दुख हुआ. वह जीवित हैं और उन्हें हवाई मार्ग के जरिए सुरक्षित स्थान पर पहुंचा दिया गया है

पुस्तक ‘द सैटेनिक वर्सेज' ईरान में 1988 से प्रतिबंधित

भारतीय मूल के लेखक सलमान रुश्दी की विवादित पुस्तक ‘द सैटेनिक वर्सेज' ईरान में 1988 से प्रतिबंधित है. कई मुसलमानों का मानना है कि रुश्दी ने इस पुस्तक के जरिए ईशनिंदा की है. इसे लेकर ईरान के तत्कालीन सर्वोच्च धार्मिक नेता अयातुल्ला रूहोल्लाह खुमैनी ने रुश्दी को मौत की सजा दिए जाने का फतवा जारी किया था. ईरान ने रुश्दी की हत्या करने वाले को 30 लाख डॉलर से अधिक का इनाम देने की भी पेशकश की थी. सलमान रुश्दी की पुस्तक ‘मिडनाइट्स चिल्ड्रन' के लिए उन्हें प्रतिष्ठित बुकर पुरस्कार से सम्मानित किया गया था.